how to invest in mutual funds

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए आप इन चरणों का पालन कर सकते हैं:-

1.अपने वित्तीय लक्ष्य और निवेश क्षितिज निर्धारित करें:

आप किस लिए बचत कर रहे हैं? सेवानिवृत्ति? एक घर पर डाउन पेमेंट? आपके बच्चों के लिए कॉलेज ट्यूशन? एक बार जब आप अपने लक्ष्य जान लेते हैं, तो आप यह निर्धारित कर सकते हैं कि उन तक पहुंचने के लिए आपको कितना समय निवेश करना होगा।

2.अपनी जोखिम सहनशीलता का आकलन करें:

आप कितने जोखिम के साथ सहज हैं? म्यूचुअल फंड विभिन्न प्रकार के जोखिम स्तरों में आते हैं, कम जोखिम से लेकर उच्च जोखिम तक। ऐसा फंड चुनना महत्वपूर्ण है जो आपकी जोखिम सहनशीलता से मेल खाता हो।

3.म्यूचुअल फंड का प्रकार चुनें:

म्यूचुअल फंड कई प्रकार के होते हैं, जिनमें इक्विटी फंड, डेट फंड, हाइब्रिड फंड और मनी मार्केट फंड शामिल हैं। इक्विटी फंड स्टॉक में निवेश करते हैं, डेट फंड बॉन्ड में निवेश करते हैं, हाइब्रिड फंड स्टॉक और बॉन्ड के मिश्रण में निवेश करते हैं, और मनी मार्केट फंड अल्पकालिक ऋण प्रतिभूतियों में निवेश करते हैं।

4.सक्रिय या निष्क्रिय प्रबंधन शैली पर निर्णय लें:

सक्रिय रूप से प्रबंधित म्यूचुअल फंड फंड प्रबंधकों द्वारा चलाए जाते हैं जो व्यक्तिगत स्टॉक या बॉन्ड चुनकर बाजार को मात देने की कोशिश करते हैं। निष्क्रिय रूप से प्रबंधित म्यूचुअल फंड, जिन्हें इंडेक्स फंड के रूप में भी जाना जाता है, एक विशिष्ट बाजार सूचकांक को ट्रैक करते हैं, जैसे कि एसएंडपी 500। सक्रिय रूप से प्रबंधित फंड में निष्क्रिय रूप से प्रबंधित फंड की तुलना में अधिक शुल्क होता है।

5.शॉर्टलिस्टेड फंडों के प्रदर्शन की जांच करें:

किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले, फंड के प्रदर्शन इतिहास पर शोध करना महत्वपूर्ण है। समय के साथ फंड के रिटर्न को देखें, साथ ही इसके जोखिम मेट्रिक्स, जैसे मानक विचलन और बीटा को भी देखें।

6.म्यूचुअल फंड खाता खोलें:

आप सीधे फंड कंपनी के साथ या ब्रोकर के माध्यम से म्यूचुअल फंड खाता खोल सकते हैं। यदि आप निवेश में नए हैं, तो एक वित्तीय सलाहकार के साथ काम करना एक अच्छा विचार है जो आपकी आवश्यकताओं के लिए सही फंड चुनने में आपकी मदद कर सकता है।एक बार जब आप म्यूचुअल फंड खाता खोल लेते हैं, तो आप निवेश शुरू कर सकते हैं। आप एकमुश्त निवेश कर सकते हैं या समय के साथ नियमित योगदान कर सकते हैं। आप अपने लाभांश को पुनर्निवेशित करना भी चुन सकते हैं, जिसका अर्थ है कि आपके लाभांश का उपयोग फंड के अधिक शेयर खरीदने के लिए किया जाएगा।यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि म्यूचुअल फंड निवेश एक दीर्घकालिक निवेश रणनीति है। आपको सार्थक रिटर्न देखने के लिए कम से कम पांच साल तक निवेश करने की उम्मीद करनी चाहिए।

म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए यहां कुछ अतिरिक्त सुझाव दिए गए हैं:-

*अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाएं:

अपने सभी अंडे एक टोकरी में न रखें। अपने जोखिम को कम करने के लिए विभिन्न प्रकार के म्यूचुअल फंड में निवेश करें।

*अपने पोर्टफोलियो को नियमित रूप से पुनर्संतुलित करे:

जैसे-जैसे आपकी वित्तीय स्थिति बदलती है, आपको यह सुनिश्चित करने के लिए अपने पोर्टफोलियो को पुनर्संतुलित करने की आवश्यकता हो सकती है कि यह अभी भी आपकी आवश्यकताओं को पूरा करता है।

*घबराकर बिक्री न करें:

जब बाजार में गिरावट आती है, तो शांत रहना और घबराकर बिक्री करने से बचना महत्वपूर्ण है। याद रखें कि बाजार अंततः ठीक हो जाएगा।म्यूचुअल फंड निवेश समय के साथ आपकी संपत्ति बढ़ाने का एक शानदार तरीका हो सकता है। इन टिप्स को अपनाकर आप अपनी सफलता की संभावना बढ़ा सकते हैं।

Leave a Comment